Madaari Movie Dialogues – इरफ़ान खान

Madaari Movie Dialogues – साल 2016 में रिलीज़ हुई ‘मदारी’ मूवी इरफ़ान खान की बेहतरीन मूवी में से एक थी| इरफ़ान खान इसी तरह की दमदार मूवी के लिए जाने जाते रहे है| मूवी की कहानी सबसे अलग है जिसमें बताया गया है कैसे एक पिता (इरफ़ान खान) अपने बच्चे की मौत के इन्साफ के लिए सिस्टम से लड़ता है|

सिस्टम से लड़ते लड़ते एक पिता किस हद तक जा सकता है, इसी के इर्द-गिर्द मूवी की कहानी है| मूवी के हर पेहलू से हमे कुछ न कुछ सिख मिलता है| हमेशा की तरह इस मूवी में भी इरफ़ान खान ने दमदार अभिनय किया है|

एक्टिंग के साथ साथ इरफ़ान खान के dialogues भी काफी फेमस रहे| आज इस लेख में हम इस मूवी के कुछ ऐसे ही famous bollywood dialogues को जानेंगे जो पब्लिक के बीच काफी फेमस रहे|

Madaari Dialogues

# बाज़ चूजे पर झपटा और उठा ले गया,
ये कहानी सच्ची लगती है पर अच्छी नहीं लगती..!
लेकिन बाज़ पर पलट वार हुआ,
अब ये कहानी सच्ची नहीं लगती लेकिन,
बहुत अच्छी लगती है…!!

# Your hate doesn’t matters,
But my hate, it matters..!
It is capable of much worse..!!

# I was the ideal voter..!
अपने घर-ग्रहस्ती, आटे, दाल में उलझा हुआ,
जो सपना दिखाया, देख लिया,
जो T.V. ने बोला, जो अख़बार ने बोला, मान लिया,
लेकिन तुम मेरी दुनिया मुझसे छीनोगे, तो मैं तुम्हारी दुनिया में गड़ जायूँगा…!!

Madaari Movie Dialogues

# जब हमे कोई बहुत बड़ा गोल achieve करना होता है,
तो हमे सारे रिश्ते-लगाव भूलकर वो करना पड़ेगा,
जो हमको करना चाहिए..!!

# किसी घटना के बाद यहाँ सब ज्ञानी बन जाते है..!!

# 8 साल के बच्चे को भी पता है power क्या चीज़ है,
किसको उठाना चाहिए और किसको नहीं उठाना चाहिए…!

# नहीं मिलूंगा मैं किसी को,
कैसे ढूंढोगे…?
कपड़ा, शकल, सूरत, सब सवा-सौ करोड़ जैसी है मेरी,
नहीं ढूंढ पाओगे…!!

Famous Bollywood Dialogues