Suvichar in hindi – “कोई किसी का नहीं रहता इसलिए अपनी ज़िन्दगी जियो…”

Suvichar in hindi 1 – कोई किसी का नहीं रहता इसलिए अपनी ज़िन्दगी जियो

एक पिंजरे में चार पंछी थे| उनमें से तीन उड़ गए| कुछ समय बाद आपको क्या लगता है जो एक पंछी पिंजरे में रह गया, उसे बाकि के तीन पंछी याद करते होंगे? नहीं! जो पंछी उड़ गए वो अपनी ज़िन्दगी जी रहे है और जो अकेला अभी पिंजरे में बंद है वो सिर्फ इंतज़ार कर रहा है उस मौके का जब वो इस पिंजरे से बाहर निकले| जब ये भी पिंजरे से आज़ाद हो जाएगा तो वो भी अपनी पुरानी ज़िन्दगी को भूल जायेगा|

इसलिए आज से आप भी अपनी पुरानी ज़िन्दगी को भूल के आगे बढ़े| ये जीवन बहुत छोटा है और यहाँ से सबको जाना है| इसलिए जितने समय के लिए यहाँ हो सिर्फ अपनी ज़िन्दगी जियो और खुश रहो|

Suvichar in hindi 2 – बुझी हुई समां फिर से जल सकती है, तूफानों से घिरी हुई कश्ती भी किनारे पे कभी ना कभी आ सकती है.. कभी मायूस ना होना मेरे दोस्त इस ज़िन्दगी में, ये किस्मत है कभी भी बदल सकती है

कहते है की वक़्त सब ठीक कर देता है| लेकिन जब इंसान का ख़राब वक़्त चल रहा होता है तो वो सर पकड़ कर बैठ जाता है, अंदर से टूट जाता है| लेकिन ऐसे में उसे थोड़ा संभलना है, थोड़ा इंतज़ार करना है क्योकि वक़्त सबका आता है, ये किस्मत है जो कभी भी बदल सकता है| इसलिए मायूस मत हो और ज़िन्दगी जी! कुछ ऐसे ही कहता है ये सुविचार|

aaj ka suvichar in hindi

aaj ka suvichar in hindi

Suvichar in hindi 3 – समय की कीमत

क्या आप समय की कीमत जानना चाहते है? तो उस अख़बार से पूछो जो सुबह चाय के टेबल में होता है| हर दिन सुबह बड़े से बड़ा नेता, डॉक्टर, इंजीनियर, किसी देश का प्रधान मंत्री, या कोई गैंगस्टर; हर कोई उस अख़बार के लिया तरसते है, उसे यहाँ वहाँ ढूंढ़ते है| लेकिन वही अख़बार उसी दिन शाम को किसी कोने में पड़ा रहता है और महीने के अंत में किसी रद्दी में|

इसलिए समय बहुत कीमती है जो किसी को भी अपनी औकात दिखा सकती है| इसलिए समय का सदुपयोग करना सिख जाओ|

Suvichar in hindi 4 – वक़्त पर हासिल करो वरना बाद में अफ़सोस करना पड़ेगा

ज़िन्दगी में जो भी चीज़ तुम्हे हासिल करना है उसे वक़्त रहते हासिल करो, क्योकि ज़िन्दगी मौके कम और अफ़सोस ज्यादा देती है| अगर आप आज किसी चीज़ को ना पाने की वजह से अफ़सोस कर रहे हो, तो इसका मतलब है पहले सही समय पर आपने उस चीज़ को पाने के लिए कोशिश नहीं की थी|

इसलिए समय रहते जिस चीज़ को पाना है उसे पाने की कोशिश करो और अगर समय बीत जाए और वो चीज़ तुम्हे हासिल नहीं हुआ हो तो उसे भूल जाओ| अपने आप को कोसो मत, अफ़सोस मत करो, क्योकि समय रहते तुमने कोशिश नहीं की थी| अब आगे की सोचो और भविष्य में आने वाले चीज़ को हासिल करने के लिए आज से कोशिश करने लग जाओ|

उदहारण – अगर आपने साल भर पढ़ाई नहीं की और एग्जाम के एक सप्ताह पहले आपको ये realize हो रहा है की आपका syllabus अभी बाकि है तो अपने आप को कोसो मत, अफ़सोस मत करो| क्योकि आपने पूरा साल बेकार में गवां दिया, अब अफ़सोस करके कोई फायदा नहीं होगा| आने वाले साल के एग्जाम के लिए आज से तैयारी करना शुरू कर दो|

Also read-

Motivational status in hindi