Home / Magazine / Jazbaat Shayari in Hindi – “दिल के जज़्बात दिल ही जाने” – जज़्बात शायरी

Jazbaat Shayari in Hindi – “दिल के जज़्बात दिल ही जाने” – जज़्बात शायरी

Jazbaat Shayari in hindi, Dard bhari shayari – नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका Anicow.com पर| आज हम आपके लिए लेकर आए है जज़्बाती hindi shayari collection| आज हमने यहाँ collect किया है Jazbaat shayari in hindi, जज़्बात शायरी|

जब भी प्यार की बात आती है तो जज्बात का जिक्र होता है| जज्बात का सीधा मतलब होता है अंतरभावना| इसलिए आज हम आपके लिए लाए है दिल के जज्बातो वाली शायरी| इन्हे आप अपने चाहने वालो के साथ share कर सकते है और अपने दिल के जज़्बातो का जिक्र कर सकते है|

Best Jazbaat shayari in hindi collection –

# बदलते nahi jazbaat मेरे तारीखों ki तरह, बेपनाह mohabbat पहले भी thi और आज भी है..

# कुछ उम्दा kism के jazbaat हैं हमारे, kabhi दिल से समझने ki तकलुफ़्फ़् तो कीजिये..

# यहाँ जज़्बात की कोई मोल नहीं.. एक नफरत ही है जिसे duniya चंद लम्हों में जान leti है, वरना चाहत का yakeen दिलाने में तो zindigi बीत जाती hai..

# एक तेरा ही नशा hai जो शिकस्त दे गया mujhe, वरना जाम bhi तौबा करते थे meri दीवानगी से …

# जिस मैखाने में जाओ किस्से hai कम्बखत dil के, koi ले कर रो raha है तो कोई दे कर रो raha है..

# नाराजगी चाहे kitni भी क्यो न हो tumse, तुम्हें छोड़ देने का jazbaat हम आज bhi नही रखते..

# दिखावे की mohabbat तो जमाने ko हैं humse, पर ये dil तो वहाँ बिकेगा jaha jazbaato की कदर hogi..

Jazbaat Shayari in Hindi - दिल के जज़्बात दिल ही जाने - जज़्बात शायरी

Pyar ke jazbaat shayari in hindi –

# बादलों से keh दो जरा सोच समझ kar बरसे, अगर मुझे uski याद आ gayi तो बराबरी हो जायेगी..

# दिल-e-jazbaat किसी par, ज़ाहिर मत kar, अपने आपको ishq में इतना माहिर mat kar..

# इतना आसान nahi जीवन का किरदार निभा pana, इंसान को बिखरना पड़ता hai रिश्तो को समेटने ke लिए..

# है dard सीने में मगर होंठों pe जज़्बात nahi आते, आखिर क्यों wapis वो बीते हुए lamhat नहीं आते ..

# कुछ और जज्बातो ko बेताब kiya उसने, aaj मेहंदी वाले हाथो se आदाब kiya उसने..

# Mere sanso की jaroorat hai तू meri aawargi ki वजह tu hai…. Mere इश्क ki iptada है तू meri आशिक़ी ki इंतहा tu है ..

Dard jazbaat shayari in hindi –

# दिल के jazbaato की हिफाजत करें bhi tou kaise….?
महफूज तो dhadkan bhi नहीं hoti सीने में….!

# sirf अल्फ़ाज़ों की बात thi,
jazbaat तो तुम waise भी sahi समझते …!!

# हैं dard सीने में magar होंठों पे jazbaat नहीं आते..
आखिर kyu वापिस वो बीते हुए लम्हात nahi आते !

# सुलग रहे है kab से मेरे dil में ये अरमान,
रोक ले apni बाहों में तू आज mere तूफ़ान |

Dil ke jazbaat shayari in hindi –

# नाम देने se कौन से rishtey सँवर जाते hai, जहाँ रूह न मिले वहां दिल बिखर जाते hai…

# गम ये नहीं की वो बदल गए, गम इस बात का है की वो जीना सिख गए मेरे बगैर..

# दिल से मिले dil तो सजा dete है लोग, pyar के jazbaato को डुबा dete है लोग… दो insaano को मिलते kaise देख सकते hai लोग, जब sath बैठे दो परिन्दो ko भी उड़ा dete है लोग..

# नब्ज टटोलते ही हकीमों ने kaha, “जनाब इसने तो ishq पी रखा है…”

Jazbaat shayari in hindi for facebook and whatsapp –

# वो समझें या ना समझें mere jazbaat को, मुझे तो मानना padega उनकी हर baat को..

# हर jazbaat को जुबान nahi मिलती, हर आरजू ko दुआ nahi मिलती… मुस्कुराते रहो यहां जनाब क्युकि यहां आंसुओ को bhi आंखो मे पनाह nahi मिलती..

# Shayari करने वाले बढ़ते जा रहे है aaj-kal…. ऐ-मोहब्बत lagta है तेरा धंधा जोरो पर hai..

# पत्थर की ये duniya jazbaat नहीं समझती, dil में क्या है वो baat नहीं समझती….. तनहा तो चाँद bhi सितारों के बीच में hai पर चाँद का dard वो रात nahi समझती..

# झुकी हुई पलकों se जिनका दीदार kiya, सब kuch भुला के jinka इंतज़ार kiya….. वो जान ही न पाये jazbaat मेरे, जिन्हें khud से बढ़कर मैंने pyar किया…

Jazbaat shayari in 2 lines –

# हाल mere jazbaato का दिन रात कुछ ऐसा hai इन दिनों, वो zindigi में आते भी nahi और ख्यालों se जाते bhi नहीं..

# सोचा था खुदा ke सिवा mujhe कोई बर्बाद nahi कर sakta, फिर उसकी मोहब्बत ne मेरे सारे वहम तोड़ diye..

# उन् के सिवा कोई ओर मेरे Jazbaat में नहीं, meri आंखों में वो नमी Hai जो Barsat में नहीं…

# देख कर मेरा naseeb मेरी तकदीर रोने lagi, pyar में meri हालत kuch ऐसी हुई, सूरत को देखकर खुद आईना रोने लगी…

# कुछ बात तो है tere बातो में जो baat यहा तक आ पहुंची, हम दिल से गए dil हमसे गया ye बात कहा tak जा पहुंची..

Jazbaat status in hindi

# इकरार में शब्दों Ki एहमियत Nahi Hoti, Dil Ke Jazbat की आवाज़ नहीं Hoti… आँखें बयां कर देती हैं Dil Ki दास्तां, Mohabbat लफ़्ज़ों Ki मोहताज़ Nahi होती..

# वो कागज aaj भी मुझे महकते फूलो ki तरह lagta है, जिसपे तुमने likha था mujhe तुमसे mohabbat है..

# Dost Wo जो Apke Jazbaat को समझे, Mohabat वो Jo आपके Ahsas Ko समझे…. Mil To जाते Hai Dunia में Sab अपना Kehne वाले, पर Apna Wo Jo बिना कहे आपकी Har Baat Ko समझे..

# मुझे क्या पता यहाँ तुम से अच्छा कोई है या नहीं, tumhare सिवा ab tak किसी ओर को गौर से देखा ही नहीं अब तक ..

Final words

तो कैसे लगे आज के jazbaat shayari आपको? हम उम्मीद करते है आपको पसंद आये होंगे| अगर पसंद आये हो तो share जरूर करे| ऐसे और भी status और शायरी के लिए हमारे साथ बने रहे|

About anirudh

Hi this is Anirudh the founder of this blog. I have launched this blog in the year 2016 to provide lifestyle tips, internet help, guide and useful information. And now AniCow.com has become a leading eMagazine on the internet. If you want to contact me, then drop me an eMail at [email protected] !