Akelapan kaise dur Kare? अकेलापन क्या है? क्या आप सच में अकेले है

Akelapan kaise dur kare – नमस्कार दोस्तों, मैं अनिरुद्ध फिर से आपका स्वागत करता हूँ मेरे ब्लॉग Anicow.com पर| अकेलापन एक ऐसी अवस्था है जिसमे किसी को खालीपन का अनुभव होता है| अगर सीधे सीधे समझे तो इस अवस्था में हमारे पास कोई एक ऐसा नहीं होता जिससे हम अपने दिल की बात शेयर कर सके| चाहे जमाना डिजिटल और सोशल मीडिया का हो गया हो लेकिन ये सब किसी इंसान के अकेलेपन को दूर नहीं कर सकते, और अगर करते भी है तो सिर्फ कुछ पलो के लिए|

असल में अकेलेपन को तभी दूर किया जा सकता है जब कोई ऐसा आपके जीवन में हो जिससे आप दिल की हर बात बिना किसी संकोच के शेयर कर सके| जिसके साथ आप हंस सके; जिसके साथ रहना आपको पसंद आता हो, यहाँ तक की जिसके सामने बैठ आप रोकर भी अपने दिल को हल्का कर सके| हमारा मन और दिल एक ऐसे ही special इंसान को तलाशता है! ये natural है, ये ख़्वाहिश हर तनहा इंसान की रहती है|

कभी कभी हमारे पास family का support, friends का support, financial freedom होने का बावजूद भी हम तनहा रह जाते है और इसी special इंसान को तलाशते है जो हमे समझ सके| और जब तक हमे ये इंसान मिल नहीं जाता तब तक हमारे साथ अकेलेपन का tag जुड़ा रहता है| हर ख़ुशी रहते हुए भी हम कहीं अकेले से रह जाते है!

अकेलेपन को सामान्यतः दो भागों में बांटा जा सकता है- (Akelapan in Hindi)

१. शारीरिक
२. मानसिक

शारीरिक अकेलापन – ये वो अवस्था है जब हमे ऐसा लगता है जैसे किसी का हाथ पकड़ के थोड़ा बैठ सके, किसी के कंधे में सिर रख अपनी बातो को शेयर कर सके, किसी को hug कर सके, इत्यादि| ये विषय थोड़ा गंभीर है लेकिन काफी अहम भी है| ये एक उम्र के बाद होना लाज़मी है| अक्सर teenage girls & boys और adults इस अवस्था से गुजरते है| ऐसी अवस्था 30s के बाद भी पुरुषों और महिलाओं में देखी जा सकती है जो single है|

मानसिक अकेलापन – इस अवस्था के चपेट में लगभग हर कोई है चाहे वो कोई teenager हो या 30s की उम्र का कोई इंसान| ये काफी ज्यादा गंभीर अवस्था है| इस स्तिथि में इंसान किसी ऐसे को ढूंढ़ता है जिससे वो अपने मन की बात शेयर कर सके, और हल्का महसूस कर सके| आज कल इसकी चपेट में adults भी काफी आ रहे है जो under 25 की उम्र के है, चाहे वो कोई पुरुष हो या महिला|

मानसिक अकेलेपन में रिलेशनशिप के साथ साथ career में failure होना भी शामिल है| इसे लगभग depression का नाम दिया जा सकता है| लेकिन ऐसे में कोई जीवनसाथी या दोस्त आपके साथ हो तो आप इस अवस्था से निकल सकते है| ये भी एक उम्र के बाद होना लाज़मी है!

Akelapan kaise dur kare

अकेलेपन को कैसे दूर करे? (Akelapan kaise dur kare)

यहाँ तक हमने अकेलेपन पर थोड़ी बहुत चर्चा भी कर ली और इसे जान भी लिया; लेकिन इसे दूर कैसे करे अब इसपर चर्चा करते है|

Akelepan ka कारण पता लगाए-

ज्यादातर इंसान अकेला तभी पाया जाता है जब वो किसी के तलाश में होता है| दूसरा कारण पाया गया है की एक इंसान के पास दुनिया की हर चीज़ तो होती है लेकिन फिर भी वो मानसिक रूप से किसी चीज़ को तलाश करता है| ये दोनों अवस्था सिर्फ एक ओर ही इशारा करती है की वो किसी को ढूंढ रहा है| अब इसे पार्टनर कहिये, प्यार कहिये या जीवनसाथी| एक उम्र के बाद हर इंसान पूरी तरह से इस unknown person को तलाशने में लग जाता है|

तो इस real fact को स्वीकारते हुए और जब तक वो special insaan आपको मिल नहीं जाता, तब तक अपने अकेलेपन को enjoy कीजिये! उस special insaan को आपके जीवन में जब आना होगा तब वो आएगा, लेकिन फिलहाल अभी के लिए इस अकेलेपन को जीना सीखिए! तो चलिए जानते है कैसे?

Nature के साथ घुलने की कोशिश करे-

इस उपाय को मैं आज भी अपनाता हूँ| मैं हर सुबह 6 से 6:30 बजे तक उठ जाता हूँ और morning walk पर निकल जाता हूँ| मेरे हर दिन की शुरुवात nature के साथ होती है| मैं कभी नदी किनारे चला जाता हूँ, कभी पार्क में जाकर टहलता हूँ, तो कभी bike से long drive के लिए निकल जाता हूँ| मेरे हर सुबह की शुरुवात का एक घंटा सिर्फ मैं अपने आप को देता हूँ|

मैं इस दौरान ना अपना social accounts check करता हूँ, ना किसी को msg करता हूँ, और ना किसी से कोई बात| बस मेरा सिर्फ एक मकसद रहता है हर सुबह nature के बीच, अपनी मौज में रहना| आप इस टिप्स को जरूर follow करे| लगातार 2 सप्ताह तक करने के बाद आपको असर दिखने लगेगा|

Books are the best friends- (Akelapan kaise dur kare)

अगर आप सच में अकेलेपन को दूर करना चाहते है तो किताबों से दोस्ती करे| मैं यहाँ school या college के किताबों की बात नहीं कर रहा हूँ| आपको जो पढ़ना अच्छा लगे आप उन किताबों को पढ़े जैसे कहानी की किताब, thriller book, novel books, travel books, recipe books, history books, biography, jokes, amazing facts, suspense stories, social books, motivational books, horror books, इत्यादि|

एक personal tips – मैं अपने खाली समय में Pratilipi में hindi stories पढ़ता हूँ| और सबसे ख़ास बात है ये बिलकुल free है| आप Pratilipi android App अपने मोबाइल में भी install कर सकते है| यहाँ आप 12 अलग अलग regional भाषाओं में कहानियाँ पढ़ सकते है|

शायद मन किसी ख़ास को तलाश रहा है- (Akele kaise jiye)

ये अकेलेपन का एक मूल कारण है जिसमे इंसान अपने पार्टनर को तलाशता है जिसके साथ वो अपने मन की बात शेयर कर सके, कुछ समय बिता सके| ये प्राकृतिक emotions है! ये हर इंसान की एक need है जिससे हम भाग नहीं सकते| हर इंसान की एक चाहत होती है, कुछ ऐसी secret चाहत जो दुनिया से छिपी रहती है| ये चाहत हम अपने दोस्तों या परिवार वालो के साथ शेयर नहीं कर सकते|

ऐसा देखा गया है की किसी इंसान के पास अगर हर तरह की सुख-सुविधा भी दी जाए चाहे वो पैसा हो, या लाइफ में success हो; लेकिन फिर भी वो कहीं ना कहीं अंदर ही अंदर अकेला रहता है|

तो ये भी आपके अकेलेपन का एक कारण हो सकता है| लेकिन घबराने की कोई बात नहीं, वो ख़ास भी आपके जीवन में जरूर आएगा| फिलहाल संयम रखे और अपने आप में खुश रहने की कोशिश करे!

Social media से दूर रहे-

अगर आपको लगता है की social media आपके अकेलेपन को दूर कर सकता है, तो मेरा विश्वास मानिए आप गहरे कुँए में जा रहे है| एक ऐसा कुआँ जिसमे आपको ऊपर से बहुत सारे आवाज़े तो आएँगी लेकिन कोई रस्सी फेक के खींचने वाला नहीं मिलेगा| Social media के ज्यादा प्रयोग से इंसान का लाइफ confuse हो जाता है| इस से हासिल तो कुछ नहीं होता, लेकिन जीवन मकड़ी के जाल की तरह उलझ जाता है| इसलिए इस कुँए से दूर रहिये जिसमे ठंडा पानी तो है लेकिन घुटन वाली गहराई है!

Music सुने, डांस करे, कोई art करे- (Temporary akelapan kaise dur kare)

ऐसा देखा गया है की music आपके अकेलेपन को कुछ हद तक दूर करता है| अगर आपको डांस करना पसंद है या कोई art/painting करना पसंद है तो इन्हे जरूर करे| आपको guitar बजाना पसंद है तो guitar बजाए| अगर आपको खाना बनाने का शौक है तो अलग अलग रेसिपी बनाये| आपको जो art पसंद है आप वो करे| लेकिन ये शायद temporary solutions ही साबित होंगे!

Also read-

Long distance relationship tips

Romance kaise karte hai