Business tips in Hindi – Business में सफल होने के लिए Golden Formulas

Business tips in hindi – एक बिज़नेस का अगर सीधा सीधा मतलब निकला जाए तो निकलता है > अपने कस्टमर या क्लाइंट को products और services देना और उसके बदले profit लेना | मतलब एक बिज़नेस में 2 चीज़े सबसे ज्यादा जरुरी है और इसके इर्द गिर्द हर एक बिज़नेस काम करता है और वो है –

1. अपने कस्टमर को products और services देते हुए उन्हें पूरी तरह से satisfy करना

2. और इसके बदले प्रॉफिट earn करना

एक बहुत famous quote है जिसे आपके साथ share करना चाहूंगा > “if you take care of your clients, they will take care of your business”.

मतलब अगर आप अपने क्लाइंट को पूरी तरह से satisfy कर पाते है तो आपका क्लाइंट आपके बिज़नेस को प्रॉफिट जरूर देगा | और यही एक बिज़नेस success का golden formula है |

तो चलिए आज इसी पर चर्चा करते है और जान लेते है कुछ business tips in hindi | मैं आपको बताने वाला हूँ कुछ ऐसे बिज़नेस टिप्स जिनकी मदद से आप किसी भी बिज़नेस को उचाई तक ले जा सकते है |

business tips in hindi - business success golden formula
business tips in hindi – business success golden formula

Business tips in hindi – 3 Golden Business success formulas

क्या आपके कस्टमर्स/क्लाइंट्स आपसे नाखुश है ?

क्या कभी ऐसा हुआ है की आपके कस्टमर ने आपसे दोबारा products/services लेने से इंकार कर दिया हो? अब आप सोचिए की कोई कस्टमर जो आपका regular ग्राहक है, इस महीने उसने आपसे products नहीं ख़रीदा | अगर ऐसा सिर्फ आपके एक या फिर दो ग्राहक करते है तो फिर ये normal है लेकिन अगर आपके सारे ग्राहक एक एक करके आपसे दूर जा रहे है तो आपको जल्द अपने बिज़नेस strategy में changes लाने होंगे |

अगर आपके रेगुलर कस्टमर्स आपके पास दोबारा नहीं आ रहे है तो इसका मतलब है –

1. शायद आपके products/services में कोई कमी है

2. पहले के मुकाबले अब आपके बिज़नेस में वो बात नहीं रही

3. या फिर आपसे बेहतर कोई मार्केट में आ चूका है

देखिये एक बिज़नेस में नए customers पाना आसान है लेकिन उन्ही customers को regular customer बना कर रखना ही एक अच्छे और successful बिज़नेस की पहचान है | आपका हर एक रेगुलर कस्टमर ही आपके बिज़नेस brand की पहचान है |

तो कैसे इस problem से बचे और कस्टमर्स को regular बनाए रखे ? चलिए आगे पढ़ते है और जान लेते है कुछ golden rules!

हमेशा अपने कस्टमर्स को कुछ नया देने की कोशिश करे –

कभी आपने अपने कस्टमर्स को extra services/products दी है ? चलिए एक example से समझते है | सोचिए आपका एक मोबाइल फ़ोन का बिज़नेस है | ओर आज कल ऐसे बिज़नेस हर के locality में 2 से 3 मिल ही जाते है | मतलब साफ़ है की market में competition बहुत है |

ऐसे में आपको अपने कस्टमर्स को हर एक new mobile purchase में कुछ extra देना पड़ेगा जैसे की आपने एक flip cover या फिर back cover free में दे दिया, या फिर सामने के 3 महीने के लिए free music download का एक offer दे दिया, या फिर extra talktime दे दिया | आप कुछ creative भी सोच सकते है जैसे आपने एक mobile selfie stick फ्री में दे दिया, या फिर एक memory card फ्री में दे दिया , या फिर mobile में कोई exchange offer दे दिया |

अगर आप कुछ इस तरह के बिज़नेस policies को अपनाते है तो आप अपने locality के बाकी के mobile shops को पीछे छोड़ सकते है | यहाँ तक की उनके कस्टमर्स भी अपनी तरफ खींच सकते है |

चलिए एक ओर example देखते है | सोचिए आपका एक computer shop है तो आप क्या क्या extra services/products अपने new customers को दे सकते है ?

1. आप अपने कस्टमर्स को 6 महीने तक फ्री कंप्यूटर repairing service दे सकते है

2. आप अपने कस्टमर को एक फ्री computer eye protector glass दे सकते है

3. आप अपने कस्टमर को एक फ्री premium anti-virus दे सकते है

अपने marketing strategy में सुधार लाए –

कुछ businessman marketing तो करते है लेकिन बिना किसी target group को पहचाने | जैसे की आपका एक computer का shop है और आप उसे एक govt colony में promote कर रहे है | अगर आप उसी shop का marketing/promotion किसी IT sector area में करेंगे तो वो perfect target group रहेगा |

क्युकि एक govt colony में आपके जितने computers sell होंगे उस से ज्यादा एक IT sector area में sell हो जाएगा | और दूसरी बात ये की इस marketing campaign में आपका पैसा भी काम खर्च होगा | सीधी सी बात है की एक IT sector में computers की जानकारी ज्यादा है इसलिए हर एक products के लिए अलग से promotional materials की जरुरत नहीं पड़ेगी; और sells भी ज्यादा होंगे |

एक बिज़नेस में marketing/promotion के लिए target market को पहचानना बहुत जरुरी है | उदहारण के लिए आप sports shoes का बिज़नेस करते है तो आपका target market होगा-

1. Sports clubs

2. Gym, fitness centers

3. College sports clubs and groups

4. Sports coaching centers

Next आता है market segmentation | मतलब अलग अलग sports shoes को sports के अनुसार divide करना जैसे – cricket sports shoes, football shoes, gym fitness shoes, etc.

एक target group में अपने बिज़नेस का promotion करना काफी cost effective होता है क्युकि –

1. आपके प्रोडक्ट्स sell होने के chances ज्यादा होते है

2. आपको promotional materials में ज्यादा खर्च नहीं करना पड़ता

3. एक target group में आपके ज्यादा से ज्यादा regular customers बनने के chances रहते है


 

मैं उम्मीद करता हु की आज के business tips in hindi आपके लिए मददगार रहेंगे और आप अपने बिज़नेस को उचाई तक पहुंचाने में भी सक्षम रहेंगे | ऐसे ओर भी बिज़नेस आर्टिकल्स के लिए हमारे ब्लॉग में आते रहे > www.anicow.com

# social media marketing से business brand awareness कैसे बढाए – READ HERE