Article 15 movie Dialogues – Ayushmann Khurrana

Article 15 dialogues – बहुत कम लोग ही इस मूवी के बारे में जानते है जो Ayushmann Khurrana की बेस्ट मूवीज में से एक है| Article 15 मूवी में आयुष्मान खुराना के एक्टिंग को काफी पसंद किया गया| ये मूवी साल २०१९ में रिलीज़ हुई थी जिसका बजट लगभग २९ करोड़ रुपये था और इस मूवी ने बॉक्स ऑफिस से लगभग ९३ करोड़ का बिज़नेस भी किया| आर्टिकल १५ एक क्राइम ड्रामा मूवी है जिसमे Ayushmann Khurrana पुलिस ASP का किरदार निभा रहे है| चलिए देखते है इस मूवी के कुछ popular dialogues को जिसे पब्लिक ने काफी पसंद किया|

Article 15 trailer

Article 15 movie dialogues – Ayushmann Khurrana

# ये उस किताब की नहीं चलने देते जिसकी वो शपथ लेते है..!
आयुष्मान : यही तो लड़ाई है.. उस किताब की चलानी पड़ेगी..!! अब उसी से चलेगा देश..!

# फर्क बहुत कर लिया.. अब फर्क लाएंगे..!!

# लाइफ में हां और ना की probability 50-50 की होती है| और मुझे लगता है हां वाला 50 बहुत है..!

# सर ये तीन लड़कियाँ अपनी दिहाड़ी में सिर्फ ३ रुपये एक्स्ट्रा मांग रही थी..! सिर्फ तीन रूपये!! जो mineral water आप पी रहे है उसके दो या तीन घुट के बराबर| और उनकी इस गलती की वजह से उनका रेप हो गया सर| उनको मार कर एक पेड़ में टांग दिया गया ताकि पूरी जात को उनकी औकात याद रहे|

article 15 dialogues

article 15 dialogues

# तुम्हे हीरो चाहिए..!!
> हीरो नहीं चाहिए, बस ऐसे लोग चाहिए जो हीरो का wait ना करे.!!

# इन्साफ की भीख मत मांगो, बहुत मांग चुके..!!

# धरम, नस्ल, जाति, लिंग, जनम या इनमे से किसी भी आधार पर राज्य अपने किसी भी नागरिक से कोई भेद-भाव नहीं करेगा..! ये मैं नहीं कह रहा, ये भारत के संविधान में लिखा है..!!

# मैं और तुम इन्हे दिखाई ही नहीं देते| हम कभी हरिजन हो जाते है, कभी बहुजन हो जाते है, बस जन नहीं बन पा रहे है, ताकि जन-गण-मन में हमारी भी गिनती हो जाये|

# Kabir singh movie dialogues