amir kaise bane

Amir kaise bane? खुद अमीर बने, और देश को भी अमीर बनाएं – Social issue

Amir kaise bane – एक दिन में अमीर कैसे बने? माफ़ कीजिये गा, मैं आज आपको यहाँ इस आर्टिकल में अमीर बनने के tricks या tips तो नहीं बताने वाला हूँ, लेकिन यहाँ मैं कुछ ऐसे गंभीर विषय पर बात जरूर करूँगा जो आपको सच में अमीर बना सकते है, दिल से अमीर, इंसानियत के नाते अमीर|

हमारा अनमोल रुतबा-

अक्सर Shopping mall, cinema hall, cafe, या restaurant में तो हर कोई अमीर बनता है| हम सिनेमा हॉल में 10 रूपये के पॉपकॉर्न के लिए 35 रूपये देते है| किसी cafe में 10 रूपये के चाय के लिए 25 रूपये देते है| रेस्टोरेंट में तो 130 की बिरयानी और 20 रुपये के ice-cream के लिए हम 350 रूपये तक दे कर आ जाते है! लेकिन जब घर लौट रहे होते है तो रिक्शे वाले के साथ 30 रूपये के लिए थोड़ी कहा-सुनी हो जाती है| और फिर अगले दिन सब्जी वाले के साथ तो पूछिए ही मत! उसके साथ तो भाव का ऐसा तोल-मोल और हिसाब होता है की इतना हिसाब अगर हमने Matric में किया होता तो आज commerce के साथ हम Charter accountant बन गए होते|

amir kaise bane
amir kaise bane – source

असल प्रॉब्लम-

प्रॉब्लम ये नहीं है की आप restaurant में 150 की चीज़ के लिए 350 देते है| जरूर दीजिये, ये आपका personal life है| अरे भाई, इंसान शौक के लिए ही तो जीता है| जरूर कीजिये अपने शौक पुरे!

लेकिन जनाब; प्रॉब्लम तब आ जाती है जब कड़ी धुप में रिक्शे से उतर कर आप रिक्शे वाले से 30 रूपये के लिए कहा-सुनी करने लगते है| और 5 मिनट के तू-तू मैं-मैं के बाद अंततः हार कर वो रिक्शा वाला गमछे से अपने सर के पसीने को पोछता है, और आपसे कहता है, “ठीक है बाबू, आपको जो अच्छा लगे वही दे दीजिये..”| और फिर उस नोट को वो रिक्शा वाला अपने सर से लगाकर, अपने जेब में डालता है|

आप सोच रहे होंगे की वो आपके दिए गए नोट को सर से क्यों लगाता है? क्योकि आज के दिन, आपका दिया गया ये नोट ही उसके लिए और उसके परिवार के लिए सब कुछ है| शायद आपके दिए गए इस नोट से इस रिक्शे वाले के घर में किसी का पेट भरेगा, किसी की दवाई आएगी|

और आप सोचते है की आज रिक्शे वाले को 30 की जगह 20 देकर आपने 10 रूपये की बचत की! वही दूसरी ओर, आपने restaurant में 150 रूपये की चीज़ के लिए 350 दिए, यानी 200 का नुक्सान| लेकिन आपकी असली ख़ुशी है की आपने 10 रूपये की बचत की|

हां ये भी सही है!! क्या लगता है आपको, क्या ये सही है? मैं इसे आपके ऊपर छोड़ रहा हूँ|….

Dil se amir kaise bane-

जिस दिन आपको ये 10 रूपये का बचत गलत लगने लगा, उस दिन सोच लीजिये आपसे बड़ा अमीर इस दुनिया में कोई नहीं है| अरे जनाब आपने जो 10 रूपये का बचत किया है, उसपर उस रिक्शे वाले का हक़ था| मुझे तो आज एहसास हुआ इस बात का, की कही ना कही ये 10 रूपये की बचत गलत है| शायद मैं अमीर बनने के रास्ते चल पड़ा हूँ| लेकिन इसका मतलब ये नहीं की मैं restaurant जाना बंद कर दूंगा, क्योकि मुझे बिरयानी और ice cream काफी पसंद है, पर हाँ इस तरह से 10 रूपये की बचत कभी भी करना पसंद नहीं करूँगा| मैं अमीरी दोनों तरफ दिखाऊंगा!

ये आर्टिकल अगर आपको पसंद आया है तो दुसरो को भी बताएं, शेयर करे, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग dil se अमीर बने! ऐसे और भी लेख पढ़ने के लिए Anicow magazine के साथ बने रहे|

अकेलापन कैसे दूर करे?

Women business success story